लालू बोले- ‘रिहा होता तो ‘, जज बोले- ‘जेल में ही करा देंगे इंतजाम’

by on

लालू बुधवार को चारा घोटाला के 3 मामलों में अदालत में पेश हुए।

रांची : चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में दोषी ठहराए गए बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पटना स्थित आवास पर इस बार मकर संक्रांति के मौके पर ‘चूड़ा-दही भोज’ का आयोजन नहीं होगा। लेकिन जेल में बंद लालू के जेहन में इस भोज की यादें इतनी ताजा हैं कि वह जज के सामने भी इस बारे में अपनी बात रखने से नहीं चूके।

लालू यादव की सेवा के लिए जेल में पहुंचे उनके रसोइया और सहायक

लालू ने बुधवार को चारा घोटाला से जुड़े तीन मामलों में सीबीआई की विशेष अदालत में पेशी के दौरान जज से कहा कि अगर वह रिहा होते और घर होते तो मकर संक्रांति पर दही-चूड़ा खाते और उन्‍हें (जज) भी खिलाते। इस पर हाजिरजवाब जज शिवपाल सिंह ने कहा कि वह जेल में ही लालू यादव के लिए दही-चूड़ा का इंतजाम कर देंगे।

lalu

लालू और जज सिंह के बीच का संवाद अक्‍सर मीडिया की सुर्खियों में रहता है। इससे पहले भी दोनों की बातचीत की काफी चर्चा हुई थी।

यहां उल्‍लेखनीय है कि लालू की तरफ से पटना में आयोजित होनेवाला यह भोज काफी चर्चित रहता है। मकर संक्रांति के अवसर पर प्रत्येक वर्ष आरजेडी अध्यक्ष अपने आवास पर 14 और 15 जनवरी को दो दिन चूड़ा-दही-तिलकुट का भोज कराते हैं। लेकिन इस बार उनके आवास पर सन्‍नाटा पसरा रहेगी। इसकी एक वजह से लालू का जेल में होना और दूसरी हाल ही में लालू की बहन गंगोत्री देवी के निधन को बताया जा रहा है।

CBI की विशेष अदालत ने 950 करोड़ रुपये के चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में लालू प्रसाद को बीते सप्‍ताह साढ़े तीन साल की सजा सुनाई थी। इससे पहले 23 दिसंबर को अदालत ने उन्‍हें दोषी ठहराया था। मामला देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा था। कोर्ट ने इस मामले में लालू सहित 16 आरोपियों को दोषी ठहराया है। इस मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा भी आरोपी थे, लेकिन कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया।

You may also like

Leave a Reply